क्यों है राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स खास? – Shiksha Shetra
क्यों है राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स खास?

क्यों है राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स खास?

हर कदम खुली आँखों से सपने देखें

बरेली (यू.पी.) में राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स शिक्षा, स्वास्थ्य, समाज कल्याण और समुदाय के विकास के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रहा है। इस ग्रुप की शुरूआत राजश्री इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेन्ट एण्ड टेक्नोलॉजी की स्थापना के साथ इस उदेश्य से की गयी कि एक ही स्थान पर विभिन्न प्रकार के पाठ्यक्रम में शिक्षा मिले ताकि सभी समुदायों का उत्थान हो सके। राजश्री ग्रुप के द्वारा इंजीनियरिंग, प्रबन्धन, चिकित्सा, शिक्षा, विज्ञान, कला, वाणिज्य, फार्मेसी, कानून, नर्सिंग, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा, आई.टी.आई. आदि विभिन्न विषयों में पाठ्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। जो कि यू.जी.सी., ए.आई.सी.टी.ई., एन.सी.टी.ई., एम. सी.आई., बी.सी.आई., मानव संसाधन विकास मंत्रालय, एस.सी.ई.आर.टी., तकनीकी शिक्षा बोर्ड, ए.के.टी.यू. लखनऊ एवं एम.जे.पी. रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त है।

वर्तमान में राजश्री ग्रुप के 12 संस्थानों में 90 कोर्सेज संचालित किये जा रहे हैं। इन विभिन्न संस्थानों में 5000 से अधिक विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के द्वारा हर क्षेत्र में सफलता का परचम लहराया जा रहा है। ग्रुप को कम्पटीशन सक्सेस रिव्यू पत्रिका के द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश में शीर्ष इंजीनियरिंग कॉलेजों के मध्य 15वाँ तथा पूरे भारतवर्ष में 32वाँ स्थान दिया गया है। डाटा क्वेस्ट पत्रिका के अनुसार टॉप टी-स्कूलों में पूरे भारतवर्ष में राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स को 46वाँ स्थान प्राप्त हुआ है। साथ ही इंडिया टुडे पत्रिका एवं टाइम्स इंजीनियरिंग पत्रिका के अनुसार भी राजश्री ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों के मध्य स्थान बनाने में कामयाब रहा है। 690 बेडेड राजश्री हॉस्पीटल में सभी प्रकार की जॉचें सुपर स्पेश्लिटी सुविधाओं के साथ सरकार द्वारा कोविड हॉस्पीटल के रूप में भी मान्यता प्रदान की गयी।

एक कदम सफलता की ओर अग्रसर

हमारी पहचान हमारा हर कदम है जो हमारे प्रत्येक छात्र/छात्राओं को संस्थान के साथ उच्चतम स्थान तक ले जा रहा है और हमारे यहाँ हर एक व्यक्ति खुली आँखों से सपने देखता है जो कि हमारे संस्थान के चेयरमैन श्री राजेन्द्र कुमार अग्रवाल जी द्वारा दिया गया एक मंत्र है।

कोविड लैव में राजश्री इंस्टीट्यूट का योगदान

इस कोविड महामारी में जबकि हर व्यक्ति परेशान था उस समय में भी हमारे मेडिकल स्टॉफ एवं डाक्टर्स ने सभी व्यक्तियों की पूर्ण रूप से सेवा कि तथा हर छोटे से छोटे व्यक्ति को इस महामारी से बचाने का प्रयास किया।

कोविड काल के दौरान राजश्री मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट को भारत सरकार द्वारा एक कोविड हॉस्पिटल के रूप में मान्यता प्रदान की गयी है। कोविड काल के दौरान अनेक मरीजों का इलाज राजश्री मेडिकल रिसर्च इंस्टीटयूट के द्वारा किया गया। वर्तमान में सभी प्रकार की कोविड जाँचे राजश्री मेडिकल रिसर्च इन्स्टीटयूट के माध्यम की जाती है। यह राजश्री संस्थान की एक बहुत बड़ी उपलब्धियों में से एक है। इसके साथ ही राजश्री इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेन्ट एंड टैक्नोलॉजी रिठौरा को भी नबावगंज क्षेत्र को क्वॉरनटीन सेन्टर बनाया गया था। जिसमें इस क्षेत्र के बहुत सारे मरीजों को कोविड के दौरान सुरक्षा की दृष्टि से क्वॉरनटीन किया गया था।

रोजगार में राजश्री का योगदान

राजश्री इंस्टीट्यूट के संस्थापक श्री राजेन्द्र अग्रवाल जी का हमेशा यही उद्देश्य रहा है कि विद्यार्थियों को रोजगारपूरक शिक्षा प्रदान की जाये। इसी उद्देश्य को पूरा करने के लिये राजश्री ग्रुप के तत्वाधान में हजारों विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात् विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय तथा राष्ट्रीय कम्पनियो में उच्च पदो पर कार्य कर रहे है। बी.टेक, एम.बी.ए., पॉलीटेक्निक, नर्सिंग, फार्मेसी, आई.टी.आई. तथा अन्य रोजगारपूरक कार्यक्रमों की शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात् विद्यार्थियो को रोजगार प्रदान करने में राजश्री ग्रुप का पूरा सहयोग प्रदान किया जाता है। एम.बी.ए. की छात्रा आशी अग्रवाल का गूगल में चयन हुआ। इसके अतिरिक्त साधन कुमार का लीड ग्रुप सुमित सिंह चौहान टेक महिन्द्रा, चन्द्रपाल, सुधांशु गंगवार, धर्मेन्द्र कुमार, दीपक राठौर तथा अन्य विद्यार्थियों का माइक्रोमैक्स आदि अन्तर्राष्ट्रीय संस्थानो में चयन हुआ है। एम.बी.ए., बी.टेक, पॉलीटैक्निक, आई.टी.आई. तथा रोजगारपूरक कार्यक्रमों के विद्यार्थी देश-विदेश में अन्तर्राष्ट्रीय कम्पनियों में उच्च पदों पर कार्यरत हे। जो कि राजश्री ग्रुप के लिये एक सम्मान का विषय है।

उद्यमिता विकास प्रकोष्ठ विद्यार्थियो को स्वरोजगारपूरक बनाने के उद्देश्य से राजश्री ग्रुप में उद्यमिता विकास प्रकोष्ठ की स्थापना की गयी है। इस प्रकोष्ठ को बनाने का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों में एक उद्यमी बनाने की योग्यताओं तथा क्षमताओ को उजागर करता है। राजश्री ग्रुप के चेयरमैन श्री राजेन्द्र कमार अग्रवाल जो कि स्वंय एक उद्यमी हैं उनका स्वप्न है कि राजश्री ग्रुप के विद्यार्थी बहुत ही प्रतिभावान उद्यमी बने। इसी कारण राजश्री ग्रुप के विद्यार्थियो को विभिन्न स्टार्टअप प्रारम्भ करने के लिये प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। युवाओं के अन्दर बुद्धिमत्ता, नवीन सोच, उत्साह, निडरता आदि मुख्य गुण से परिपक्व बनाना इस सेल का मुख्य उद्देश्य है। राजश्री संस्थान की ओर से विद्यार्थियों को समय समय पर नये प्रोजेक्ट में सम्मिलित किया जाता है। ताकि विद्यार्थी उद्यमी बन सकें।

Watch More

Sunbeam Academy

ATL (Atal Tinkering Lab) @ Sunbeam Academy, Samneghat, Varanasi

ATL (Atal Tinkering Lab) @ Sunbeam Academy, Samneghat, Varanasi

Siddhant World School, Chinhat

Siddhant World School, Chinhat